अंजीर के गुणकारी फायदे

अंजीर के गुणकारी फायदे

अंजीर

अंजीर उन फलों में से एक है जिसके गुणों को हजारों साल पहले पहचान लिया गया था। आदि काल से यह फल उपयोग में लाया जा रहा है।

आज सूखे मेवों में यह एक महत्त्वपूर्ण स्थान रखता है। इसकी फसल साल में दो बार मई-जून तथा दिसंबर-जनवरी में आती है। दिसंबर में आने वाला अंजीर मीठा और श्रेष्ठ  होता है। अंजीर की तासीर गर्म होती है। लेकिन इसे भिगोकर खाने से इसकी तासीर ठंडी हो जाती है। Anjeer को कई प्रकार की स्वादिष्ट मिठाई जैसे अंजीर की बर्फी , खजूर अंजीर मावा रोल , अंजीर-खजूर की गुझिया , तथा आइसक्रीम , शेक आदि बनाने में काम लिया जाता है।

अंजीर के फायदे

कब्ज

अंजीर में फाइबर बहुत होता है। इसे खाने से आँतों की सफाई होती ही कब्ज दूर होती है। यह आँतों की क्रिया शीलता बढ़ाता है। रात को

 2 -3 अंजीर पानी में भिगो दें। सुबह ये अंजीर अच्छे से चबाकर  खा लें। फिर ये पानी भी पी जाएँ। इससे कुछ दिनों में कब्ज मिट जाती है।

ब्लड प्रेशर

अंजीर में पोटेशियम बहुत होता है। पोटेशियम ब्लड प्रेशर कम करने में मदद गार होता है। अतः अंजीर खाना अधिक ब्लड प्रेशर वाले

लोंगों के लिए फायदेमंद होता है। यह रक्त में ट्राई ग्लेसराइड लेवल को कम करके ह्रदय रोग से भी बचाता है।

दमा

दमा यानि अस्थमा होने पर  Dry अंजीर नियमित खाना लाभदायक हो सकता है। इसकी तासीर गर्म होने के कारण इसे खाने से फेफड़ों से

कफ आदि कम होकर दमा में आराम  मिलता है।

यौन शक्ति

अंजीर यौन शक्ति बढ़ाने का काम करता है। इसके लिए 3 -4 अंजीर तीन कप दूध के साथ उबालें। जब दो कप रह जाये तब गुनगुना रहने

पर अंजीर निकाल कर खा लें। ऊपर से यह दूध घूँट घूँट करके पी लें। यह रात को सोने से आधा घंटे पहले लें। 15 दिन लगातार लेने से

बहुत फर्क महसूस होता है। इस प्रयोग से शारीरिक दुर्बलता दूर होती है। यह स्नायु की दुर्बलता को भी ठीक करता है।

बवासीर

अंजीर में पाए जाने वाले लाभदायक तत्व तथा अधिक मात्रा में पाया जाने वाला फायबर बवासीर को मिटाने में कारगर सिद्ध होता है। कुछ

दिन नियमित रूप से सुबह शाम अंजीर को भिगोकर खाने व इसका पानी पीने से बवासीर ठीक हो जाते है।

हड्डी की मजबूतीअंजीर में काफी मात्रा में केल्शियम होता है। इसका कैल्शियम आसानी से शरीर में अवशोषित हो जाता है। इसलिए अंजीर के लगातार सेवन करने से हड्डिया मजबूत होती है।

दाँत

कैल्शियम की मात्रा अधिक होने के कारण दांतो की रक्षा करने में अंजीर मदद करता है। उन्हें मजबूत बनाता है जिससे दाँत में कीड़ा लगना

आदि समस्याओं से बचाव होता है।

त्वचा

अंजीर से  मिलने वाले विटामिन व खनिज त्वचा को कोमल , सुन्दर और ग्लोइंग बनाते है। इसमें स्किन को स्वस्थ बनाने वाले लगभग सभी तत्व मौजूद होते है। इसके नियमित उपयोग से आयरन की कमी नहीं होती , यह भी त्वचा को लाभ देता है।

बालों के लिए

अंजीर में कॉपर होने के कारण बालों को काला बनाये रखने में मदद करता है। अंजीर का तेल बालों में लगाकर भी इसका लाभ लिया जा

सकता है। हेयर मास्क में 10 बूँद अंजीर के तेल की मिलाकर बालों पर लगाकर धोने से बाल शाइनी और मुलायम हो जाते है।अंजीर का

तेल 5 -7 बूँद कंडीशनर के साथ लगाकर रखने से भी बाल बहुत अच्छे हो जाते है।

एंटी ओक्सिडेन्ट

अंजीर में पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट शरीर के लिए बहुत लाभदायक होते है। इसके पोलीफेनोल तत्व फ्री रेडिकल्स को कंट्रोल करके

कैंसर जैसी गंभीर रोग से रक्षा करते है।

अंजीर कब ना खाएँ

जिन लोगों को किडनी की समस्या हो उन्हें अंजीर नहीं खानी चाहिए क्योंकि इसमें ऑक्जेलिक एसिड होता है। जिन्हें अंजीर से एलर्जी हो उन्हें इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। सूखे अंजीर में शक्कर की काफी मात्रा होती है अतः डायबिटीज वालों को डॉक्टर की सलाह से ही इसे खाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *