टेस्टोस्‍टेरोन बढ़ाने वाले टॉप 5 फूड

टेस्टोस्‍टेरोन बढ़ाने वाले टॉप 5 फूड

पुरूषों को अपने खानपान पर विशेष ध्‍यान देना चाहिए, क्‍योंकि उनकी डाइट ही शरीर में होने वाली सभी क्रियाओं को एक्टिव रखती है। अगर खानपान सही न हो तो पुरूषों में मौजूद टेस्टोसटेरोन हार्मोन प्रभावित होता है, जिसका असर उनके शारीरिक विकास पर पड़ता है। आमतौर पर देखा जाए तो बदलती लाइफस्‍टाइल की वजह से पुरूषों में टेस्टोस्‍टेरोन का लेवल कम होता जा रहा है। इसका लेवल गिरने के चलते लोगों को कई फिजिकल और मेंटल परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कई बार इसकी वजह से शादीशुदा जिंदगी में तनाव पैदा हो जाता है। ऐसी कई वजह हैं जिनकी वजह से इनका लेवल पुरुषों में गिर जाता है। अच्छी बात ये है कि ऐसे कई तरीके भी हैं, जिनसे टेस्टोस्‍टेरोन का लेवल नेचुरली बढ़ाया जा सकता है। आज हम आपको टेस्टोस्‍टेरोन बढ़ाने वाले टॉप 5 फूड के बारे में बता रहे हैं, जिसे प्रत्‍येक पुरूषों को जरूर खाना चाहिए।

अंडे

अंडे को प्रोटीन, कैल्शियम व ओमेगा-3 फैटी एसिड का अच्छा स्रोत माना जाता है। यह सभी पोषक तत्व हमारे शरीर के लिए जरूरी होते हैं। प्रोटीन से हमारी मांसपेशियां मजबूत होती हैं, ओमेगा 3 फैटी एसिड से शरीर में अच्छेश  कोलेस्ट्राल यानि एचडीएल का निर्माण होता है इसके अलावा कैल्शियम से दांत व हड्डियां मजबूत होती हैं। अंडे खाने से आपके शरीर को जरूरी अमीनो एसिड मिलता है जिससे शरीर का स्टैमिना  बढ़ता है।

अदरक

अदरक औषधीय गुणों से भरा होता है, इसे रोजाना खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, जो शरीर में ताजे रक्त के प्रवाह को बढ़ाते हैं, क्योंकि इनमें खून को साफ करने का खास गुण होता है। अदरक में कैंसर जैसी भयानक बीमारी से शरीर को बचाए रखने का गुण होता है। यह कैंसर पैदा करने वाले सेल्स को खत्म करता है।

अनार

इसमें विटामिन ई की मात्रा अधिक होती है जिससे चेहरे पर रिंकल्स नहीं होते और बढ़ती उम्र का असर चेहरे पर नजर नहीं आता है। अनार का जूस पीने से मेमोरी पावर भी बढ़ता है । साथ ही यह दिमाग में आने वाले नेगेटिव इमोशन को घटाता है और मूड को अच्छा रखता है ।

शहद

पारंपरिक औषधि में शहद का एक महत्वपूर्ण प्रयोग एक त्वरित बलवर्धक के रूप में किया जाता है। जैसा कि पहले भी जिक्र किया गया है, शहद में अलग-अलग तरह के शुगर कण होते हैं, खासकर ग्लूकोज और फ्रक्टोज। हालांकि सफेद चीनी, जिसमें फ्रक्टोज और ग्लूकोज एक साथ सुक्रोज के रूप में होते हैं, इसके विपरीत शहद में ये दोनों शर्कराएं अलग होती हैं। इसलिए शहद तत्काल शक्ति देता है।

किशमिश

किशमिश में उपस्थित फ्रक्टोस और ग्लूकोज़ बहुत अधिक मात्रा में उर्जा प्रदान करते हैं। अत: सीमित मात्रा में इसका सेवन करने से कमजोरी नहीं आती और वज़न भी बढ़ता है।

इस कैप्सूल के उपयोग से पुरुषों में बढ़ता है टेस्टोस्‍टेरोन।

एक्सट्रीमएक्स कैप्सूल एक हर्बल लिंग इज़ाफ़ा दवा है, शुद्ध और शक्तिशाली जड़ी बूटियों से बना, विशेष रूप से यौन मुद्दों के प्रसिद्ध और विशेषज्ञ विशेषज्ञ द्वारा बनाई गई है, हकीम हाशमी जी यह दवा उन सभी पुरुषों के लिए एक आदर्श उपचार है जो अपने जीवन में किसी भी तरह के यौन मुद्दों का सामना करते हैं। चाहे यह एक छोटी संभोग समय की समस्या या नरम निर्माण समस्या, कम कामेच्छा या यौन सुख में विफलता है, यह दवा सबसे सुखदायक और सुरक्षित तरीके से सभी यौन समस्याओं को हल करने के लिए बनाई गई है। यह दवा टेस्टोस्टेरोन को उत्तेजित करता है, क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की मरम्मत और पुनर्निर्माण करती है, लिंग में नए रक्त कोशिकाओं के गठन की शुरुआत करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *