डायबिटीज में क्या खाए और क्या नहीं जानिए कुछ बाते

डायबिटीज में क्या खाए और क्या नहीं जानिए कुछ बाते

शुगर को बढ़ने से रोकने तथा नियंत्रण और यहां तक कि काफी हद तक पूरी तरह से ठीक करने में काफी सहायक सिद्ध हो सकता है | एक Diabetic Patient को अपने भोजन को चुनने में बहुत सावधानी बरतनी चाहिए,जैसे कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट कम से कम लेना चाहिए , इसी लिए हम आपको बता रहे है एक आदर्श Diabetic Diet प्लान जिसमे यह बताया गया है की मधुमेह से पीड़ित रोगी क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए |

साथ ही साथ इस से उन लोगो को भी लाभ मिलेगा जो इस बीमारी से बचना चाहते है, क्योंकि “क्या न खाए” भाग में जिन चीजो को रखा गया है उनकी मात्रा आज ही अपनी थाली से कम करे , क्योंकि रोगों से बचाव ही सबसे अच्छा उपचार है |

Diabetic Diet Plan के अनुसार क्या खाना चाहिए 

  1. Diabetic Diet में ज्यादा फाइबर युक्त भोजन -जैसे छिलके सहित पूरी तरह से बनी हुई गेहूं की रोटी, जई इत्यादि जैसे जटिल कार्बोहाइड्रेट शामिल होनी चाहिए, क्योंकि वे खून के प्रवाह में धीरे-धीरे मिल जाते हैं। इस प्रकार Insulin उत्पादित Glucose का बेहतर ढंग से सामना कर सकती है।
  2. फूलगोभी , broccoli , टमाटर , बंदगोभी , मूली , करेला तथा पतले सूपों का जितना चाहें उतना सेवन करें।
  3. अपने आहार में Tofu, सोयाबीन की मंगौड़ी, जौ, पालक , पत्तेदार सब्ज़ियां और पपीता , खरबूजा ,अमरुद जामुन , संतरा आदि फलों और सब्जियों का सेवन करें।
  4. मक्खन एवं पनीर के बजाय नमक के पानी में डिब्बाबंद मशरूम, Salmon Fish के साथ उबले आलू का उपयोग करें।
  5. खाने से पहले एक कटोरी सलाद जरुर लें।
  6. Diabetic Diet में बादाम , लहसुन , प्याज अंकुरित दाले , अंकुरित छिलके वाला चना , बाजरा आदि शामिल करे !
  7. फलों का ताज़ा जूस न पीए इसकी बजाय फल खाएं क्योकि उसमे ज्यादा फाइबर होता है !
  8. आहार प्रबंधन के माध्यम से अपना वज़न पर नियंत्रित रखें। एक संतुलित आहार का मुख्य गुण यह है कि उसमे  भोजन की प्रकृति व्यक्ति विशेष की जरुरत के हिसाब से बदल जाती है ।
  9. थोड़ा-थोड़ा करके कई बार भोजन करना चाहिए !
  10. चाय बिना चीनी और मलाई के साथ ले !
  11. मधुमेह से ग्रस्त रोगियों को अधिकतर ताजी, हरी सब्जियों खानी चाहिए । प्रत्येक भोजन के साथ सलाद जरुर लेना चाहिए । खाने में आधिक मात्रा में फल एवं सब्जियां लेने से शरीर में अधिक पानी पहुंचता है। पानी की भरपूर मात्रा गुर्दों एवं मूत्र उत्सर्जन तंत्र के लिए आवश्यक है ।
  12. किसी भी समय का भोजन न छोड़ें तीन बार बराबर-बराबर भोजन ले और यदि आवश्यकता हो तो शाम में हल्का नाश्ता ले !
  13. भोजन ठीक से चबा चबाकर खाए विशेषज्ञ इस बात की सलाह देते हैं कि , प्रत्येक खाने का ग्रास पंद्रह बार चबाया जाना चाहिए |
  14. ख़ाली पेट न रहें और लिए जाने वाले भोजन की कुल मात्रा में कमी लाएं एवं नियमित रूप से व्यायाम करें।
  15. यदि आप अपनी सीमा से ज़्यादा खा लेते हैं तो अगले समय के भोजन में थोडा कम खाए !

    मधुमेह से पीड़ित रोगियों को क्या नहीं खाना चाहिए 

    1. Diabetic Diet प्लान में से घी और नारियल का तेल आदि चिकनाई युक्त चीजो को निकाल देना चाहिए। पूरी, कचौड़ी, समोसा, पकौड़े आदि खाने से भी बचना चाहिए।
    2. गुड़, शक्कर, चीनी, शर्बत, मुरब्बा, आइसक्रीम तथा ठंडे पेय पदार्थ इस्तेमाल नहीं करने चाहिए !
    3. Diabetes नियंत्रण करने वाली औषधियों के प्रयोग के दौरान Diabetic Patient को भोजन नहीं छोड़ना चाहिए!
    4. चिकन Leg piece को खाने से बचें ।
    5. चावल और आलू नहीं खाने चाहिए।
    6. मैदे से बनी सफ़ेद रोटी (नान, तंदूरी रोटी ), नूडल्स, नाश्ते में अनाज, मीठे बिस्कुट, केक, एवं पेस्ट्री न खाएं।
    7. चाशनी में डिब्बाबंद फल न खाएं।
    8. शराब, बियर आदि मादक पदार्थो का सेवन न करे !
    9. मकई का आटा, सूजी, ज्यादा वसायुक्त पनीर , sauce, मुरब्बा इत्यादि जैसे भोजन का अधिक सेवन न करें। आप एक निश्चित मात्रा में इनका सेवन कर सकते हैं।
    10. शहद, सुनहरी चाशनी, च्यूइंगम, मीठे पेय, कोल्ड ड्रिंक्स एवं चीनी से बने जैम का सेवन न करें।
    11. रक्त परीक्षण (Blood Test) और मूत्र परीक्षण (Urinal Test) हर दूसरे-तीसरे महीने करवाते रहना चाहिए। इससे आपको Blood Sugar level की जानकारी रहेगी तथा आप सजग और सतर्क रहेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *