पर्सनल हाइजीन से जुड़ी 10 गलतियां जिन्हें कभी नहीं करना चाहिए

पर्सनल हाइजीन से जुड़ी 10 गलतियां जिन्हें कभी नहीं करना चाहिए

बचपन से हमें माता-पिता और टीचर पर्सनल हाइजीन (personal hygiene) यानि की स्वच्छता से जुड़ी कुछ आदतों के बारे में सिखाते हैं। रोजाना ब्रश करना, खाना खाने से पहले और बाद में हैंड वॉश, तौलिए का उपयोग करना आदि हेल्दी आदतों के बारे में हमें सिखा दिया जाता है। ये आदतें धीरे-धीरे हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा बन जाती है और युवा अवस्था के दौरान लोग अपने पर्सनल हाइजीन का और भी अधिक ख्याल रखते हैं। लेकिन पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलती के बारे में लोगों को अक्सर नहीं पता होता है और इन गलतियों को करने से शरीर के गुड बैक्टीरिया को नुकसान पहुंचता है। इसलिए पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलतियों से बचना बहुत जरुरी है। इस आर्टिकल में हम आपको पर्सनल हाइजीन से जुड़ी कुछ गलतियों के बारे में बताने जा रहें है जिन्हें दोहराना आपको बंद कर देना चाहिए।

क्या होता है पर्सनल हाइजीन-

पर्सनल हाइजीन का मतलब उन हेल्दी आदतों से जिनका पालन करने से बैक्टीरिया और वायरस संक्रमण का खतरा कम हो जाता है।

क्यों हो जाती है पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलतियां –

किन चीजों को कितना स्वच्छ रखना जरुरी होता है यह बहुत बार लोगों को नहीं पता होता है। इसलिए लोग अनजाने में जानकारी के आभाव में ये गलतियां कर बैठते हैं।

पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलती है अपने टूथब्रश का ख्याल ना रखना-

मुंह के स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए सिर्फ टूथब्रश करना ही नहीं बल्कि उसका ख्याल रखना भी बेहद जरुरी होता है। ब्रश करने के बाद उसे गीला छोड़ने पर उसमें बैक्टीरिया पनपने लगते हैं साथ ही अगर उसे ढ़का ना जाए तो छिपकली जैसे जानवर भी ब्रश को बैक्टीरिया संक्रमित बना सकते हैं। इसलिए ब्रश करने से पहले उसे गर्म पानी से धोना चाहिए और करने के बाद उसे सुखा कर कैप लगाकर रखना चाहिए। हर 3 महीने में अपने ब्रश को बदल लेना जरूरी होता है।

पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलती है वर्कआउट के बाद शॉवर ना लेना-

वर्कआउट फिट रहने के लिए जरुरी होता है लेकिन वर्कआउट के दौरान काफी पसीना निकलता है। अगर आप पसीने को शरीर पर ही सूखने देते हैं और स्नान नहीं करते तो इससे आपको बैक्टीरिया इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलती से बचने के लिए वर्कआउट के बाद शॉवर जरुर लें।

पर्सनल हाइजीन के लिए हानिकारक होता है बहुत ज्यादा नहाना-

नहाने  से शरीर से गंदगी, धूल, पसीना और बैक्टीरिया आदि खत्म हो जाते हैं और शरीर साफ हो जाता है। लेकिन जरुरत से ज्यादा नहाना हानिकारक होता है। इससे शरीर के गुड बैक्टीरिया भी नष्ट हो जाते हैं और साथ ही त्वचा रुखी, बेजान हो जाती है। इसलिए बहुत ज्यादा नहाने और हाँथ धोने से बचना चाहिए। (और पढ़े – कैसे बढ़ाये यौन शक्ति..)

पर्सनल हाइजीन के लिए बुरा है रोजाना के समान साफ  रखना-

रोजाना घर पर इस्तेमाल किए जाने वाले घर के समान जैसे, रिमोट, की-बोर्ड, स्मार्टफोन, लैपटॉप, शॉवरहैड, गेट के हैंडल आदि को साफ ना करने के कारण भी बैक्टीरीया संक्रमण हो सकता है। आपके घर में आने वाला हर व्यक्ति इन चीजों को छूता है और जरुरी नहीं है कि हर किसी का हाथ साफ हो इसलिए बैक्टीरिया संक्रमण से बचने के लिए इन्हें जरुर साफ करें।

पर्सनल हाइजीन के लिए बुरा है पैड्स को सही सेडिस्पोज ना करना-

अक्सर महिलाएं पैड्स और टैम्पोन्स को टॉयलेट में फ्लश कर देती है। लेकिन ऐसा करने से संक्रमण और दुर्गंध फैलने की आशंका रहती है। इसलिए इन्हें टॉयलेट में फ्लश करने की बजाय पेपर में लपेट कर कूडें में डालें और नियमित तौर पर कूड़ेदान को साफ करना चाहिए। (और पढ़े – जाने बड़े स्तन से क्या समस्या..

पर्सनल हाइजीन के लिए बुरा अपनी निजी चीज़ों को साझा करना-

 

बहुत से लोग अपनी कंघी, हेयर ब्रश, नेल कटर, तौलिया अदि अपने परिवार के लोगों और दोस्तों आदि से साझा कर लेते हैं। हो सकता कि वे लोग शुद्ध हो लेकिन फिर भी ऐसा करने से बैक्टीरिया आसानी से संचरित होते हैं और संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए पर्सनल केयर से जुड़ी वस्तुओं को साझा नहीं करना चाहिए।

पर्सनल हाइजीन के लिए बुरा हैं एंटी–बैक्टीरियलसाबुन का इस्तेमाल-

अक्सर लोग एंटी-बैक्टीरियल साबुन के उपयोग को प्राथमिकता देते हैं। लेकिन इसमें मौजूद केमिकल्स गुड बैक्टीरिया के लिए अधिक हानिकारक है। इसलिए इसका अधिक उपयोग करने से बचें।

पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलती है हाथों से पसीना पोंछना-

बहुत से लोग रुमाल और टीशू ना होने पर पसीना हाथ से ही पोंछ लेते हैं। ऐसा करने से उनके हाथों पर जर्मस जमा हो जाते हैं और हाथ संक्रमित हो जाते हैं जिससे बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलती है चेहरे को बहुत ज्यादा स्क्रब करना-

त्वचा को एक्सफॉलिएट करने से बैक्टीरिया और मृत कोशिकाएं साफ होती है लेकिन चेहरे को बहुत से ज्यादा एक्सफोलिएट करने से रोमछिद्र बहुत ज्यादा बड़े हो सकते हैं। साथ ही त्वचा के छिलने और जलने जैसी कई परेशानियां हो सकती है इसलिए ऐसा ना करें।

पर्सनल हाइजीन से जुड़ी गलती है फ्लॉसिंग नहीं करना-

मुंह के स्वास्थ्य के लिए फ्लॉस करना भी जरुरी होता है ऐसा ना करने पर खाने के टुकड़े दांतों के बीच फंसे रह जाते हैं जिससे दांतों में संक्रमण और दिल से जुड़ी कई बीमारियां हो सकती है। (और पढ़े – वजन कम करना चाहते है तो…

कितना हाइजीन है आवश्यक-

 11 हजार बच्चों पर किए गए एक अध्ययन के अनुसार पाया गया की अत्यधिक साफ वातावरण में एक्जिमा और अस्थमा जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। साफ रहें लेकिन अत्यधित स्वच्छ रहना भी हानिकारक होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *