बांझपन में दवा नहीं कर रही काम तो अपनाएं ये 6 घरेलू नुस्खे

बांझपन में दवा नहीं कर रही काम तो अपनाएं ये 6 घरेलू नुस्खे

दोस्तों आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में इंसान अपनी सेहत की और ध्यान देना पूरी तरह से भूल चुका है..जिसकी वजह से इंसान तरह तरह की बीमारिओं का शिकार हो रहा है,आपने अक्सर महिलाओं के बांझपन के बारे में सुना होगा लेकिन आज हम पुरुष बांझपन के बारे में बात करेंगे| पुरुष बांझपन की बीमारी बहुत ही गंभीर बीमारी है और आज के समय में इस बीमारी से औरतों के मुक़ाबले पुरुष जयदा शिकार हो रहे हैं जो कि बहुत एक चिंता का विषय है |आपने एक कहावत सुनी होगी की शरीर एक मंदिर है लेकिन यह कहावत कहावत ही बन कर रह गयी है, बहुत कम लोग है जो अपने शरीर का ध्यान पूरी तरह से रखते है बहुत से लोग नशों में पड़ चुके हैं जिसकी वजह से वह तरह तरह की बीमारिओं का शिकार हो रहे हैं..आज की युवा पीडी नशे में इतनी पड़ चुकी है कि उन्हे खाने पीने और अपने शरीर को स्वस्थ रखने की कोई चिंता नही है |

बांझपन होने के कारण

  1. तेज़ी से हो रहे शारीरिकरण
  2. मिलावट की वजह से तमाम रास्यानों का शरीर में जाना
  3. तनाव
  4. ज़रूरत से जयदा काम
  5. तेज़ लाइफस्टाइल
  6. देर से शादी होना
  7. नशे करना

बांझपन का उपचार

1.अनार –

अनार गर्भाश्य में खून के प्रवाह को तेज करता है और गर्भाश्य की  दीवारों को मोटा कर के गर्भपात की संभावना को कम करने के लिए सहायक है। यह भ्रूण के स्वस्थ विकास को बढ़ावा देता है ।

सेवनः

अनार के बीज और छाल को बराबर मात्रा में मिलाकर इसका चूर्ण बना लें और किसी एयर टाइट जार में रख लें। कुछ हफ्तों के लिए दिन में 2 बार गर्म पानी के एक गिलास के साथ इस मिश्रण का आधा चम्मच लें। आप ताजा अनार-फल भी खा सकते हैं, और अनार का ताज़ा रस भी पी सकते हैं।

2. दालचीनी-

दालचीनी डिम्ब-ग्रंथि के सही रूप से कार्य करने में मदद कर सकती है।

सेवनः

गर्म पानी के एक कप में, दालचीनी पाउडर का 1 चम्मच मिलाएं । कुछ महीनों के लिए दिन में एक बार इसे पीते रहें । इसके अलावा, अपने अनाज, दलिया, और दही पर भी दालचीनी पाउडर का छिड़काव करके इसे अपने आहार में शामिल करें। ध्यान रहे कि इस मसाले का प्रयोग एक दिन में 2 चम्मच से अधिक ना करें।

 3.खजूर-

यह गर्भ धारण करने के लिए, आपकी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसमें कई पोषक तत्व होते हैं, जैसे कि:- विटामिन ए, ई और बी लोहा और अन्य ज़रूरी खनिज, जोकि एक महिला को गर्भ धारण करने के लिए और गर्भावस्था से लेकर बच्चे के जन्म तक आवश्यक हैं।

सेवनः

2 बड़े चम्मच कटे हुए धनिए की जड़ के साथ 10 से 12 खजूर (बीज के बिना) पीस लें। पेस्ट बनाने के लिए गाय के दूध के ¾ कप मिलाएं और इसे उबाल लें। इसे पीने से पहले ठंडा होने दें। अपनी अंतिम माहवारी की तारीख से, एक सप्ताह के लिए, इसे दिन में एक बार पीएं। एक स्वस्थ-नाश्ते के रूप में प्रतिदिन 6-8 खजूर खाते रहें और दूध, दही और स्वास्थ्य-पेय में भी कटे हुए खजूर का समावेश करें।

4.विटामिन-डी –

प्रैग्नेंसी और एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देने के लिए विटामिन डी बहुत ही आवश्यक है। वास्तव में विटामिन डी की कमी से बांझपन और गर्भपात का कारण हो सकता है।

सेवनः

विटामिन डी के लिए भोजन जैसे कि सामन पनीर, अंडे की जर्दी ले सकती हैं। आप विटामिन डी की गोलियों का सेवन भी कर सकती हैं लेकिनगोलियों कासेवन करने के लिए डाक्टर से सलाह जरूर ले लें।

 5. बरगद के वृक्ष की जडें-

आयुर्वेद की मानें तो बरगद के पेड़ की जड़े बांझपन के इलाज में प्रभावी होती हैं।

सेवनः

इसके लिए कुछ दिनों के लिए धूप में एक बरगड के पेड़ की कोमल जड़ों को सुखा लें, फिर इसका चूर्ण बनाक एक बंद डिब्बे में रख लें। एक गिलास दूध में चूर्ण के 1 से 2 बड़े चम्मच मिलाए। माहवारी का समय खत्म होने के बाद लगातार तीन-रातों के लिए, खाली पेट इसे एक बार पीएं। इसे पीने के बाद एक घंटे के लिए कुछ भी खाने से बचें । कुछ महीनों के लिए इस उपाय का पालन करें। याद रखें कि अपने मासिक धर्म चक्र के दौरान इस उपायों का प्रयोग न करें।

6.संतुलित आहार-

एक अच्छी तरह से संतुलित आहार लेना, प्रजनन क्षमता में सुधार के लिए एक और महत्वपूर्ण कारण है। एक स्वस्थ, संतुलित आहार स्वास्थ्य की उस दशा या बीमारियों को रोकने में मदद करता है जो बाँझपन का कारण हो सकती हैं।

अगर आपको लगता हैं की आप इन घरेलु नुस्खों से संतुषट नहीं हैं और आपको इन सब चीज़ो से कोई फायदा नहीं हो रहा हैं तो आप Babytone Capsule का  प्रयोग कर सकते है ये सारी पुरुष सेक्स समस्या का समाधान है और इसके बारे में अधिक जानने के लिए डॉक्टर हाश्मी से संपर्क करें।

Free Consultation with Dr. Hashmi

Contact us:-+91 9999216987

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *