शीघ्रपतन की समस्या के कारण और इलाज

शीघ्रपतन की समस्या के कारण और इलाज

शीघ्र पतन की समस्या पुरुषों में होने वाली एक यौन समस्या है जिसमे सम्भोग के दौरान बहुत ही कम समय में वीर्यपात हो जाता है। यह समस्या उतनी गंभीर नहीं होती फिर भी नियंत्रित न किये जाने पर परेशानी खड़ी कर सकती है।

 शीघ्रपतन जिसे अंग्रेजी में प्री मैच्यूर एजेकुलेशन के नाम से जाना जाता है पुरुषों में होने वाली यौन समस्याओं में सबसे आम है। यौन सम्बन्ध स्थापित करने से तुरंत पहले ही या यौन सम्बन्ध स्थापित करने के तुरंत बाद अनियंत्रित तरीके से वीर्य का स्खलित हो जाना शीघ्रपतन है। अन्य शब्दों में कहे तो यौन सम्बन्ध स्थापित करते वक्त जब पुरुषों में बहुत ही कम अवधि में वीर्य का स्खलन हो जाता है। शीघ्रपतन की समस्या यौन जीवन पर बहुत ही नकरात्मक प्रभाव डालती है और इसका बुरा असर पुरुष और उसकी महिला साथी दोनों पर पड़ता है। हालांकि शीघ्रपतन का प्रभाव प्रजनन पर ज्यादा नहीं पड़ता लेकिन ये यौन जीवन में समस्याएं लाने के साथ-साथ महिला साथी के साथ रिश्तो में भी समस्या पैदा कर सकता है। यह समस्या पुरुषों में मानसिक तनाव को भी बढाता है और कई बार उनके आत्मविश्वास पर भी नकरात्मक प्रभाव डालता है।क्यों होती है शीघ्रपतन की समस्या?: बहुत सारे मामलों में शीघ्र पतन की समस्या का सही और सटीक कारण का पता नहीं चलता है। यौन सम्बन्ध बनाने के अनुभव और उम्र की सहयता के साथ कई पुरुष लम्बे समय तक यौन आनंद लेते हैं। कई बार नई महिला साथी के साथ सम्बन्ध बनाते समय अत्यधिक उत्तेजना की वजह से बहुत जल्दी ही वीर्य स्खलित हो जाता है। कई बार तनाव, डिप्रेशन और घबराहट जैसी मानसिक समस्याओं के वजह से भी शीघ्र पतन की समस्या जन्म लेती है। आइए इसके कुछ मूल कारणों के बारे में जानते हैं।

मनोवैज्ञानिक कारण:

ज्यादातर मामलों में शीघ्रपतन की समस्या का सम्बन्ध किसी शारीरिक रोग से न होकर, मानसिक विकारों की वजह से होता है। ये सारे मनोवैज्ञानिक कारक उन पुरुषों को भी प्रभावित करते हैं जिनका पहले वीर्य स्खलन पर अच्छा नियंत्रण होता था।

  • यौन सम्बन्ध बनाने का कम अनुभव
  • महिला के साथ कम समय से रिश्ते में होना
  • अतिउत्साह(Over excitement)
  • घबराहट
  • डिप्रेशन

चिकित्सीय कारण:

  • डायबिटीज(मधुमेह)
  • मल्टीप्ल स्क्लेरोसिस
  • पुरस्थग्रंथि(प्रोस्टेट ग्लैंड) में विकार
  • उच्च रक्तचाप
  • थाइरोइड की समस्या
  • अनुचित दवाओं का सेवन
  • अत्यधिक अल्कोहल का सेवन

शीघ्रपतन का निदान(डायग्नोसिस):


शीघ्रपतन के निदान लिए डॉक्टरों द्वारा जिस मैन्युअल(नियम पुस्तक) का इस्तेमाल किया जाता है उसके हिसाब से शीघ्रपतन की समस्या को यौन समस्या तभी माना जायेगा जब शीघ्रपतन की समस्या का विवरण निम्नलिखित हो:

1.यौन सम्बन्ध बनाने के पहले ही वीर्यस्खलन हो जाना।
2.यौन सम्बन्ध बनने के तुरंत बाद वीर्यस्खलन हो जाना।
3.व्यक्ति के इच्छा के विपरीत बहुत ही कम समय में वीर्यस्खलन हो जाना।
4. उपरोक्त तीनों समस्याओं का बार-बार होना।

शीघ्रपतन के निदान में डॉक्टर सबसे पहले शीघ्रपतन की समस्या से ग्रसित पुरुष और उसकी महिला साथी से बात करता है और पुरुष के चिकित्सीय इतिहास(मेडिकल हिस्ट्री) की जानकारी लेता है। कोई ऐसा उपकरण या जांच पद्दति नहीं है जो किसी व्यक्ति में शीघ्रपतन कि समस्या का पता लगा पाए। डॉक्टर पुरुष की समस्या का पता उस से और उसकी महिला साथी से कई तरह के सवाल पूछ कर लगाती है।

शीघ्रपतन का उपचार:


शीघ्रपतन की समस्या से जूझ रहे लोगो के लिए अच्छी खबर ये है की ज्यादातर मामलों में शीघ्रपतन की समस्या मनोवैज्ञानिक कारणों से होती है और इन कारणों से होने वाली शीघ्रपतन की समस्या आसानी से बिना किसी उपचार के महज जीवनशैली में बदलाव कर के ठीक की जा सकती है। इसके लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखना पड़ता है।

  • एल्कोहल को पूरी तरह से त्याग देना या कम उपभोग करना।
  • तम्बाकू और अनुचित दवाओं का सेवन बंद करना।
  • चरमोत्कर्ष पर पहुंचने से पहले कुछ देर के लिए रुक जाना।
  • उत्तेजना(सेंसेशन) पर नियंत्रण के लिए मोटे परत वाले निरोध(कंडोम) का इस्तेमाल करना।
  • यौन सम्बन्ध बनाने से पहले हस्तमैथुन करना।
  • यौन सम्बन्ध स्थापित करने से पहले 15 मिनट फोरप्ले करना।

उपरोक्त बातों के अलावा शीघ्रपतन की ज्यादा गंभीर रूप के इलाज के लिए कई तरह के दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है। शीघ्र पतन की समस्या को दूर करने के लिए कई तरह के क्रीम, जेल और स्प्रे भी मौजूद है, जिनका इस्तेमाल यौन सम्बन्ध बनाने से पहले लिंग पर लगा कर किया जाता है। ये क्रीम, जेल और स्प्रे लिंग में उत्तेजना(सेंसेशन) को कम कर शीघ्रपतन की समस्या का अस्थायी समाधान करता है। लिंग पर लगायी जाने वाली ये दवाएं पुरुष के साथ-साथ उसकी महिला साथी के उत्तेजना को भी कम कर देती है। इस तरह के किसी भी दवा का इस्तेमाल करने से पहले सबसे पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरुर लें। बिना डॉक्टरी सलाह के शीघ्र पतन के इलाज के लिए किसी भी तरह के दवा का इस्तेमाल न करें।

घरेलू नुस्खों द्वारा शीघ्र पतन का उपचार:

1. हरे प्याज के बीज:


हरे प्याज के बीजों के सेवन से पुरुष शीघ्रपतन की समस्या को काफी हद तक दूर कर सकते हैं। हरे प्याज के बीजों में मौजूद कामोद्दीपक(aphrodisiac) गुण शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा दिलाने में काफी हद तक कारगर साबित होते हैं। प्याज के बीजों को पीस कर पानी में अच्छे से मिला लें। इस मिश्रण का सेवन खाना खाने से पहले रोजाना दिन में तीन बार करें।

2. अश्वगंधा:


पुरुषों में यौन समस्याओं को दूर करने के लिए इस जड़ी बूटी का इस्तेमाल बहुत ही लाभदायक होता है। इस जड़ी बूटी में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो पुरुषों के अंगों को बल देते है और साथ ही साथ स्टेमिना भी बढाते हैं। प्राकृतिक एफ्रोसोडिएक(काम शक्ति बढाने वाले औषधि) मानी जाने वाली अश्वगंधा का सेवन शीघ्रपतन के समस्या के लिए भी फायदेमंद साबित होता है। बाजार में अश्वगंधा चूर्ण और कैप्स्यूल के रूप में उपलब्ध होता है। इसका सेवन करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से परामर्श जरुर लें।

3. शहद और अदरक:

शहद और अदरक का साथ साथ सेवन शीघ्र पतन को दूर करने का एक बहुत ही कारगर तरीका है। अदरक के सेवन से लिंग में रक्त-संचार(ब्लड फ्लो) की मात्रा ज्यादा हो जाती है, जो वीर्य स्खलन की नियंत्रित करने में काफी हद तक मददगार साबित होता है। शहद भी एक प्राकृतिक एफ्रोसोडिएक माना जाता है और अदरक के साथ मिश्रित होने पर इसकी गुणवत्ता और भी बढ़ जाती है। एक चम्मच शहद और उतनी ही मात्रा में अदरक का सेवन साथ-साथ करने से बहुत जल्दी तो नहीं पर कुछ दिनों बाद फर्क जरुर नजर आएगा।

4. लहसुन:


लहसुन का सेवन लिंग में रक्त-संचार को बढाता है। इस वजह से यह शीघ्रपतन की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए औषधि की तरह काम करता है। शीघ्रपतन और स्तम्भन दोष(इरेक्टाइल डिसफंक्शन) की समस्या से निजात पाने के लिए रोजाना लहसुन की 3-4 कलियां खाएं।

5. गाजर, अंडा और शहद:


एक कम उबला अंडा ले और उसे कद्दूकस(ग्रेटेड) किये गाजर में मिला लें। अब इस मिश्रण में तीन चम्मच शहद डालें और अच्छे से मिला लें। तीन महीने तक रोजाना इस मिश्रण का सेवन करें। एक बार जब लगे की आपकी स्थिति में सुधार हुआ है धीरे-धीरे अंडे का सेवन बंद कर दें।

एक्सट्रीम एक्स कैप्सूल का उपयोग करें

एक्सट्रीमएक्स कैप्सूल एक हर्बल लिंग इज़ाफ़ा दवा है, शुद्ध और शक्तिशाली जड़ी बूटियों से बना, विशेष रूप से यौन मुद्दों के प्रसिद्ध और विशेषज्ञ विशेषज्ञ द्वारा बनाई गई है, हकीम हाशमी जी यह दवा उन सभी पुरुषों के लिए एक आदर्श उपचार है जो अपने जीवन में किसी भी तरह के यौन मुद्दों का सामना करते हैं। चाहे यह एक छोटी संभोग समय की समस्या या नरम निर्माण समस्या, कम कामेच्छा या यौन सुख में विफलता है, यह दवा सबसे सुखदायक और सुरक्षित तरीके से सभी यौन समस्याओं को हल करने के लिए बनाई गई है।

एक अध्ययन के मुताबिक, जो लोग डेढ़ महीने तक इसका सेवन कर रहे हैं, वे अपने यौन स्वास्थ्य में बहुत अच्छे परिणाम पा रहे हैं। आप केवल हश्मी डॉक्टर से परामर्श करके  इसका सेवन करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *