सीधा होने के लायक़ रोग को नियंत्रित करे कैसे?

सीधा होने के लायक़ रोग को नियंत्रित करे कैसे?

शीघ्रपतन क्या है?

समय से पहले हांक कभी कभी करने के लिए “शीघ्र स्खलन”, “समय से पहले चरमोत्कर्ष”, या “तेजी से हांक” के रूप में संदर्भित किया जाता है। भले ही यह एक तत्काल चिंता का कारण नहीं हो सकता है, यह नकारात्मक संबंधों को प्रभावित कर सकते हैं और सेक्स कम मनोरंजक बनाने।

शीघ्रपतन के लक्षण

आप बेशक समस्या के नाम से इकट्ठा कर सकते हैं के रूप में, शीघ्रपतन के प्राथमिक लक्षण तथ्य यह है कि आदमी से अधिक 60 सेकंड के बाद प्रवेश के लिए स्खलन देरी करने में असमर्थ है। यह समय से पहले चिललपुकार करने के लिए संभोग तक सीमित नहीं है-यह एकल हस्तमैथुन सहित सभी यौन स्थितियों-के दौरान हो सकता है कि नोट करना महत्वपूर्ण है।

जो लोग समय से पहले स्खलन के साथ ही संघर्ष के लिए प्रमुख लक्षणों में से एक नंबर रहे हैं। ये शामिल हैं:

  • अपराध बोध, निराशा, या शर्मिंदगी की भावना
  • घटी हुई यौन सुख स्खलन पर गरीब नियंत्रण करने के लिए जिम्मेदार ठहराया
  • नियमित रूप से थोड़ा नियंत्रण या कम यौन उत्तेजना के साथ तब होती है जब स्खलन

शीघ्रपतन के कारणों

भले ही ज्यादातर मामलों में इलाज समयपूर्व फटना है, कठिनाई के भाग तथ्य यह है कि यह हो सकता है अलग अलग कारणोंकी एक संख्या है। समयपूर्व फटना, समस्या मनोवैज्ञानिक है बजाय की शारीरिक ज्यादातर मामलों में। जब करने के लिए मनोवैज्ञानिक कारणों की तुलना में, जैविक कारणों के बहुत कम आम हैं। ही समस्या बार बार (जैसे शारीरिक आघात या सर्जरी के कारण तंत्रिका तंत्र नुकसान) दुर्लभ मामलों में गंभीर हो कर सकते हैं समस्या से निपटने के लिए अपेक्षाकृत सरल है।

मनोवैज्ञानिक कारणों

मनोवैज्ञानिक कारणों में से कुछ में शामिल हैं:

  • नियंत्रण और अंतरंगता से संबंधित मुद्दों
  • अवसाद
  • अपराध की अनुभूतियां
  • चिंता
  • रिश्ते तनाव
  • Overexcitement या बहुत ज्यादा उत्तेजना
  • एक रिश्ते की नवीनता
  • यौन अनुभवहीनता

आजकल की लाइफस्‍टाइल के कारण पुरुषों में स्‍तंभनदोष यानी इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन की समस्‍या बढ़ी है। आहार में ओमेगा-3 की कमी के कारण पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या बहुत बढ़ गई है। यौन उत्तेजना होने पर यदि शिश्न में फैलाव और कड़ापन न आ पाये कि संपूर्ण शारीरिक संबन्ध स्थापित हो सके तो इस अवस्था को स्तंभनदोष कहते हैं। यह गंभीर बीमारी है, इसे नजरंअदाज न करें। प्राकृतिक उपचार के जरिये आप आसानी से इस समस्‍या का समाधान कर सकते हैं।

 1. अनार का सेवन

अनार को सेक्‍स के लिए प्राकृतिक बूस्‍टर माना जाता है, इसका नियमित सेवन करने से सेक्‍स की क्षमता बढ़ती है और यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन से बचाता है। इसलिए नियमित रूप से अनार का सेवन कीजिए, यदि आप अनार नहीं खा सकते तो अनार जा जूस पियें, यह भी ऊर्जा प्रदान करता है।

2.अश्वगंधा

अश्वगंधा का चूर्ण इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन के लिए अचूक कारगर प्राकृतिक उपाय है। अश्‍वगंधा तथा बिदारीकंद को 100-100 ग्राम की मात्रा में लेकर बारीक चूर्ण बना लें। इसमें से आधा चम्मच चूर्ण दूध के साथ सुबह और शाम में सेवन कीजिए। यह वीर्य को ताकतवर बनाकर शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

3.त्रिफला

त्रिफला भी शीघ्रपतन के लिए बहुत कारगर उपचार है। एक चम्मच त्रिफला के चूर्ण को रात में सोते समय 5 मुनक्कों के साथ लेना चाहिए। इसके ऊपर से ठंडा पानी पियें, यह चूर्ण पेट के सभी प्रकार के रोग, स्वप्नदोष तथा वीर्य का शीघ्र गिरना आदि रोगों को दूर करके शरीर को स्‍वस्‍थ बनाता है।

4. अदरक

अदरक भी मर्दाना कमजोरी को दूर कर शीघ्रपतन की समस्‍या से निजात दिलाता है। अदरक के रस के साथ उबला हुआ अंडा खाने से यह समस्‍या दूर हो सकती है, इसे रात में एक महीने तक खाने से फायदा होता है।

5. तुलसी

एक चम्मच तुलसी के बीजों का चूर्ण, दो पत्‍ता पान, 2 रत्ती आक का फूल लेकर इनका चूर्ण बना लीजिए, रात में सोने से पहले दूध के साथ इसे पीने से इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन की समस्‍या दूर होती है। तुलसी के बीज की जड़ का टुकड़ा बराबर दो माह तक चूसने से भी शीघ्रपतन की समस्‍या से छुटकारा मिलता है।

6. सोंठ और काली मिर्च

सोठ, काली मिर्च, लौंग, जायफल, सूखा करी पत्ता इनको बराबर मात्रा में लेकर इनका चूर्ण बना लीजिए। रात में सोने से पहले इनको दूध के साथ पीजिए। इससे इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन की समस्‍या दूर होगी।

7. बादाम

बादाम याद्दाश्‍त को बढ़ाता है साथ ही यह ऊर्जा का बहुत अच्‍छा स्रोत भी है। लेकिन क्‍या आपको पता है यह इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन की समस्‍या से भी निजात ददिलाता है। काली मिर्च में मिस्री मिलायें, इसे रात में सोने से पहले दूध के साथ पियें, इस समस्‍या से निजात मिलेगी।

8. इमली

इमली के बीजों को तीन दिन तक पानी में भिगोकर रखें। इसके बाद छिलकों को उतारकर बाहर फेंक दें और सफेद बीजों को पीसें। फिर इसमें पिसी मिश्री मिलाकर कांच के खुले मुंह वाली एक चौड़ी शीशी में रखें। आधा चम्मच सुबह और शाम के समय में दूध के साथ इसका सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्‍या से निजात मिलती है।

एक्सट्रीम्स कैप्सूल से उपचार करे 

एक्सट्रीमएक्स कैप्सूल एक हर्बल लिंग इज़ाफ़ा दवा है, शुद्ध और शक्तिशाली जड़ी बूटियों से बना, विशेष रूप से यौन मुद्दों के प्रसिद्ध और विशेषज्ञ विशेषज्ञ द्वारा बनाई गई है, हकीम हाशमी जी यह दवा उन सभी पुरुषों के लिए एक आदर्श उपचार है जो अपने जीवन में किसी भी तरह के यौन मुद्दों का सामना करते हैं। चाहे यह एक छोटी संभोग समय की समस्या या नरम निर्माण समस्या, कम कामेच्छा या यौन सुख में विफलता है, यह दवा सबसे सुखदायक और सुरक्षित तरीके से सभी यौन समस्याओं को हल करने के लिए बनाई गई है।

एक अध्ययन के मुताबिक, जो लोग डेढ़ महीने तक इसका सेवन कर रहे हैं, वे अपने यौन स्वास्थ्य में बहुत अच्छे परिणाम पा रहे हैं। आप केवल हश्मी डॉक्टर से परामर्श करके  इसका सेवन करे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *